ei1WQ9V34771.jpg

अब भाजपा ने कहा,भारी पड़ रही है बिहार मे शराबबंदी,किया कानून वापसी की मांग


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने राज्य में शराबबंदी कानून को कड़ाई से पालन करवाने के लिए जहां अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है, वहीं सरकार में शामिल भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अब कृषि कानून की तरह शराबबंदी कानून को भी वापस लेने की मांग की है.

शराबबंदी कानून वापस ले नीतीश कुमार'

भाजपा के विधायक हरिभूषण ठाकुर (Haribhushan Thakur) ने मंगलवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बिहार पुलिस (Bihar Police) ही शराब बिकवा रही है. उन्होंने कहा कि 96 प्रतिशत किसानों को फायदा करने वाले तीन कृषि कानून जिस तरह जनदबाव में वापस लिए गए, उसी तरह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी कानून वापस ले लें. हालांकि, उन्होंने शराबबंदी कानून को फायदे वाला बताया.

रक्षक बना भक्षक' भाजपा नेता ने कहा, 'शराबबंदी कानून अब हमलोगों पर भारी पड़ रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि क्षेत्र में पुलिस की मनमानी चल रही है, जहां शराब बिकती है वहां पुलिस नहीं जा रही है और जो नहीं बेचता है वहां पांच-पांच बार पुलिस जाकर लोगों को धमकाती है.' उन्होंने कहा रक्षक ही भक्षक बना हुआ है.


'तंत्र ही कर रहा फेल' ठाकुर ने नीतीश कुमार को विकास पुरूष बताते हुए कहा कि वे बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन तंत्र ही उनको फेल कर रहा है.


उक्त मांग के बाद से बिहार में सियासी पारा हाई हो गया है पुर्व मुख्यमंत्री मांझी ने भाजपा विधायक हरिभुषण ठाकुर के गिरफ्तारी की मांग कर दी है और विधायक पर शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।

0 comments