ei1WQ9V34771.jpg
  • Sweet City Muzaffarpur

बेटिकट यात्रियों की धरपकड़:24-30 सितंबर के बीच 20 हजार लोगों से जुर्माने के रूप में वसूले एक करोड़ ...


बेटिकट यात्रियों की धरपकड़:24-30 सितंबर के बीच 20 हजार लोगों से जुर्माने के रूप में वसूले एक करोड़ से अधिक फाइन


मुजफ्फरपुर न्यूज डेस्क:- रेल में बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्रियों को पकड़ने के लिए पूर्व मध्य रेल की ओर विशेष टिकट जांच अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के दौरान धनबाद, सोनपुर, दानापुर, समस्तीपुर व पंडित दीनदयाल उपाध्याय मंडल में सफर कर रहे 20 हजार से अधिक मामले सामने आए है। इनसे रेलवे में जुर्माना के तौर पर 1 करोड़ से अधिक राशि वसुल की है।


बताया जा रहा है कि पूर्व मध्य रेल द्वारा बिना टिकट/उचित प्राधिकार की यात्रा पर रोकथाम के लिए लगातार अभियान चलाये जा रहे हैं। ताकि बिना टिकट/उचित प्राधिकार के यात्रा करने वाले यात्रियों को निरूत्साहित किया जा सके। ऐसे यात्रियों के कारण टिकट लेकर यात्रा करने वाले यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वहीं दूसरी ओर रेल राजस्व की भी हानि होती है।


रेल महाप्रबन्धक के निर्देश पर जारी सघन जांच अभियान


मामले में CPRO राजेश कुमार ने बताया कि महाप्रबंधक अनुपम शर्मा द्वारा उच्चस्तरीय बैठक किया गया। इसमें निर्देश जारी किया गया कि बिना टिकट अथवा उचित प्राधिकार के यात्रा करने वाले यात्रियों पर कड़ी निगाह रखी जाए। ताकि उचित टिकट के साथ यात्रा करने वाले यात्रियों को किसी प्रकार की कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़े ।


अधिकारियों की अलग-अलग टीम बनाकर पांच मंडलो में चलाया गया जांच


बताया गया कि पूर्व मध्य रेल के पांचों मंडलों में अधिकारियों की अलग-अलग टीम बनाई गई। फिर, स्टेशन एवं ट्रेनों में विशेष टिकट जांच अभियान चलाया जा रहा है। बताया गया कि 24 सितंबर से 30 सितंबर तक सभी मंडलों में व्यापक रूप से टिकट जांच किया गया। इस दौरान बिना टिकट यात्रा के कुल 20337 मामले सामने आए। जिससे जुर्माने के रूप में 01 करोड़ से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ।


इस दौरान धनबाद मंडल में 5376 लोगों को बिना टिकट/उचित प्राधिकार के पकड़ा गया। जिनसे दंडस्वरूप करीब 32 लाख रूपए रेल राजस्व के रूप में प्राप्त हुआ। इसी तरह सोनपुर मंडल में 10426 लोगों से 47 लाख से अधिक रूपए जुर्माना के तौर पर वसूल किया गया। इडजर, पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल में 831 लोगों से 3.80 लाख रूपए, जबकि, समस्तीपुर मंडल में 3614 लोगों से 21 लाख से अधिक की राशि रेल राजस्व के रूप में प्राप्त हुआ। उधर, दानापुर मंडल में 27 सितंबर से 29 सितंबर तक 03 दिन में बिना टिकट यात्रा के कुल 333 मामले सामने आये। जिससे 1.22 लाख रूपए रेल राजस्व के रूप में प्राप्त हुए।

0 comments