top of page
ei1WQ9V34771.jpg

मोतीपुर और साहेबगंज में तख्तापलट लगभग सभी पुर्व मुखियाओं को जनता ने दिखाया बाहर का रास्ता


मोतीपुर व साहेबगंज की 47 पंचायतों में केवल पांच मुखिया अपनी कुर्सी बचा सके। यहां 42 नये चहरे मुखिया चुने गए। साहेबगंज की 18 पंचायत में 17 नये मुखिया को जनता ने मौका दिया है। मोतीपुर की 29 में केवल चार पंचायत ने निवर्तमान मुखिया पर भरोसा जताया। यहां 25 युवा पहली बार मुखिया चुने गए।

मोतीपुर में 29 में से 16 सीटों पर महिला उम्मीदवार विजयी रहीं हैं। परसौनिनाथ से हीरालाल खड़िया ने दूसरी बार जीत दर्ज की। हीरालाल पिछले विधानसभा चुनाव में बसपा के प्रत्याशी रह चुके हैं। ठिकहां पंचायत से नेयाज आलम पर भी जनता ने भरोसा जताया। पगहिया से संजू देवी और पट्टी असवारी से बच्चेलाल पासवान को भी दूसरी बार मुखिया की कुर्सी मिली है। महमदपुर महमदा से मनोज कुमार सिंह कांटे की टक्कर में निवर्तमान मुखिया राकेशचंद्र को हराकर चुनाव जीते। यहां जीत का अंतर मात्र 21 वोट था।

साहेबगंज की बात करें तो,साहेबगंज की 18में 11 पंचायतों की कमान महिलाओं के हाथ आयी है।

प्रखंड की 18 पंचायतों में सिर्फ बसंतपुर चैनपुर पंचायत के मुखिया अवधेश प्रसाद गुप्ता ने दूसरी बार जीत दर्ज की। इसके अलावा सभी 17 नये लोग चुनकर आए। इसमें 11 पंचायतों की कमान महिलाओं के हाथ आयी। वोटरों ने नये चेहरों पर भरोसा जताया है। वहीं दो बार से मुखिया बनते आ रहे अहियापुर पंचायत से मैनेजर राय, हुस्सेपुर से त्रिलोकी साह, पकड़ी बसारत से रंभा देवी, राजेपुर से अंजू देवी को नये चेहरों ने मात दे दी।


0 comments
bottom of page