ei1WQ9V34771.jpg
  • Sweet City Muzaffarpur

मुजफ्फरपुर में कुकुरमुत्तों कि तरह उभर आएं है समाज के ठेकेदार बात बात पर कानून लेते हाथ में ,बच्चा..


मुजफ्फरपुर में कुकुरमुत्तों कि तरह उभर आएं है समाज के ठेकेदार बात बात पर कानून लेते हाथ में ,बच्चा चोर बोल कर पिता पर किया जानलेवा हमला


मुजफ्फरपुर। अपने बेटा को बहन के घर साइकिल से ले जा रहे माड़ीपुर के मो.शाहिद को कुछ लोगों ने बच्चा चोर बता कर उसकी जमकर पिटाई कर दी। उसका सिर फूट गया। वह बार-बार चिल्लाता रहा कि बच्चा उसका है, लेकिन आक्रोशित भीड़ कुछ सुनने-समझने को तैयार नहीं थी। इस दौरान किसी ने उसकी साइकिल भी चोरी कर ली। यह घटना सदर थाना क्षेत्र के मझौलिया रेलवे गुमटी के निकट हुई। सूचना पर पहुंची सदर थाना पुलिस भारी मशक्कत के बाद उसे भीड़ से निकालकर अपने कब्जे में लिया। सदर थानाध्यक्ष सत्येंद्र मिश्रा ने बताया कि सत्यापन में युवक की बात को सही पाया गया। उसने किसी तरह का आवेदन नहीं दिया है। बेटे के साथ उसे सुरक्षित घर भेज दिया गया है। तिरपाल विक्रेता है मो.शाहिद : मो.शाहिद ने बताया कि वह नगर थाना क्षेत्र के कंपनीबाग में तिरपाल बेचता है। वह अपने बेटा को लेकर साइकिल से सदर थाना के मझौलिया स्थित अपनी बहन के घर जा रहा था। मझौलिया रेलवे गुमटी के पार करने पर #एक_युवक ने रोक दिया। युवक ने साथ ले जा रहे बच्चे के संबंध में उससे पूछताछ करने लगा शाहिद ने उसे बताया कि यह बच्चा उसका है और वह उसे अपने साथ बहन के घर ले जा रहा है। इस पर युवक उससे परिचय पत्र दिखाने को कहा। इस बात को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई। इस दौरान युवक ने शाहिद को थप्पड़ मार दिया तो शाहिद भी उससे भिड़ गया। हंगामा पर आसपास के लोग वहां जुट गए भीड़ को उक्त युवक ने भड़काते हुएं शाहिद को बच्चा चोर बताया भीड़ में इकट्ठा लोग शाहिद की पिटाई करने लगे और सर फाड़ दिया शाहिद को हाथ पैर में गंभीर चोट आई है जिसका ईलाज उसके परिजन जूरन छपरा स्थित एक प्राईवेट अस्पताल में करा रहें है हैरत की बात है की अब मुजफ्फरपुर शहर के बीचोबीच में पिता अपने बच्चों को लेकर कहीं आसपास जाने से पहले असुरक्षित महसूस करे क्योंकि कोई भी उपद्रवी या अपराधी प्रवृत्ति का व्यक्ति या गैंग अनर्गल आरोप लगाकर उसपर हमला कर सकता है मुजफ्फरपुर पुलिस ने इस मामले में कानून हाथ में लेने और लोगों भड़काने वाले उस युवक पर कोई कारवाई क्यों नहीं की ये एक अबुझ पहेली है।

0 comments