top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Sweet City Muzaffarpur

मुजफ्फरपुर में छ: ताले काट कर एसबीआई बैंक के आंदर घुस आएं चोर,चौकीदार की सूझबूझ से लूटने से बच गया ब


मुजफ्फरपुर में छ: ताले काट कर एसबीआई बैंक के आंदर घुस आएं चोर,चौकीदार की सूझबूझ से लूटने से बच गया बैंक


मुजफ्फरपुर जिले के मनियारी थाना क्षेत्र स्थित महंत मनियारी चौक पर चोरों ने देर रात SBI ब्रांच को निशाना बनाकर कैश चोरी करने का प्रयास किया। लेकिन, चौकीदार की सतर्कता के चलते चोरी करने में शातिर असफल रहे। चौकीदार के शोर मचाने पर सभी भाग निकले। शोर सुनकर आसपास से लोग जमा हो गए। पुलिस को सूचना दी गयी। गश्ती दल ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की।

गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे बैंक मैनेजर राजेश कुमार बैंक पहुंचे। थानेदार अजय पासवान भी पहुंचे और दोबारा जांच शुरू की। बैंक एक मार्केट के अंदर में है। चोर देर रात पीछे से चाहरदीवारी फांदकर मार्केट में प्रवेश कर गए। इसके बाद ग्रिल और शटर के तीन ताले काट दिए। फिर अंदर घुसकर प्रिंटर को तोड़ा। कागज़ात वाले कमरे समेत कुल छह ताले चोरों ने काट दिया। लेकिन, स्ट्रांग रूम तक नहीं पहुंच सका। कैशियर के काउंटर और ब्रांच मैनेजर के चेम्बर तक ही घूमते रह गया।

इसी बीच मार्केट के बाहर मौजूद चौकीदार को कुछ आहट सुनाई दी। वह भीतर जाकर देखने गया तो शातिरों को बैंक में देखकर उसके होश उड़ गए। वह अकेला होने का कारण घबरा गया। फिर भी वह तेजी से बाहर आया और शोर मचाने लगा। यह सुनकर सभी शातिर भाग निकले

खंती, कुदाल और खुरपी बरामद

भागने के दौरान शातिरों का खंती (लोहे का धारदार हथियार), खुरपी और कुदाल वहीं छूट गया, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। बताया जा रहा है कि आधा दर्जन की संख्या में शातिरों ने बैंक में धावा बोला था। लेकिन, चोरी करने में असफल साबित हुए। थानेदार अजय पासवान ने बताया कि ब्रांच मैनेजर का बयान दर्ज कर FIR करने की कवायद की जा रही है।


19 लाख रुपए हैं बैंक की क्षमता

ब्रांच मैनेजर ने बताया कि बैंक की क्षमता 19 लाख रुपए तक रखने की है। लेकिन, चेस्ट में कितना कैश पड़ा था। इसकी जानकारी देने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि यह बैंक का प्रोटोकॉल है। अगर चेस्ट में रखे कैश की जानकारी देंगे तो यह सुरक्षा के साथ खिलवाड़ होगा।


डॉग स्क्वाड को बुलाने की तैयारी

घटना की गुत्थी सुलझाने के लिए डॉग स्क्वाड की टीम को बुलाने की कवायद की जा रही है। पुलिस का मानना है कि आसपास के शातिरों की इस घटना में संलिप्तता है। थानेदार ने बैंक के पिछले हिस्से में जाकर जांच की। जहां से चोर घुसे थे। अब इस हिस्से को ईंट जोड़कर बन्द करवाने के लिए मार्केट मालिक को बुलाया जा रहा है। ताकि भविष्य में घटना की पुनरावृत्ति नहीं हो

0 comments

Comments


bottom of page