ei1WQ9V34771.jpg
  • Sweet City Muzaffarpur

मंदिर में शूटआउट, दरभंगा के पुजारी समेत दो लोगों की हत्या के बाद पसरा खौफ #जंगलराज


मंदिर में शूटआउट, दरभंगा के पुजारी समेत दो लोगों की हत्या के बाद पसरा खौफ #जंगलराज


अपराधियों ने दरभंगा के विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के रामबाग स्थित कंकाली मंदिर के पुजारी की हत्या गुरुवार की अहले सुबह गोली मार कर दी। घटना के दौरान पुजारी के बगल में मौजूद उनके एक सहयोगी भी गोली लगने से जख्मी हो गए। उनका इलाज अललपट्टी स्थित एक निजी नर्सिंग होम में चल रहा है। मृत पुजारी की पहचान राजीव कुमार झा उर्फ अंटू झा के रूप में की गयी है। वे मूल रूप से सीतामढ़ी जिले के भिट्ठामोड़ ओपी क्षेत्र के कोरियाही गांव के रहने वाले थे।


घायल युवक की पहचान शहर के चूनाभट्टी निवासी शंभू चौधरी के रूप में हुई है। घटना को कार सवार चार अपराधियों ने अंजाम दिया। स्थानीय लोगों ने इनमें से तीन अपराधियों को खदेड़कर पकड़ लिया। भीड़ ने इनमें से एक अपराधी को पीट-पीटकर मार डाला। मृत अपराधी की पहचान पुलकित सिंह के रूप में हुई है। उसके पिता राम उद्गार सिंह ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कर्मी बताए जा रहे हैं। घटना में शामिल दो अन्य अपराधी भी स्थानीय लोगों की पिटाई से जख्मी हैं।

दोनों का इलाज डीएमसीएच में चल रहा है। एक अपराधी मौके से भागने में सफल रहा। भागने वाला अपराधी आशू कुमार है। वह रामबाग मोहल्ले में एक-डेढ़ महीने से अरुण झा के मकान में किराए पर रह रहा था। स्थानीय लोगों ने अपराधियों की कार को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है।



घटना की सूचना पर एसएसपी बाबू राम, सदर एसडीपीओ कृष्ण नंदन कुमार, ट्रैफिक डीएसपी बिरजू पासवान, थानाध्यक्ष सत्य प्रकाश झा, सीआईटी इंस्पेक्टर मदन प्रसाद सहित कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन शुरू कर दी। नगर विधायक संजय सरावगी ने मौके पर पहुंचकर पुजारी के परिजनों को ढाढस बंधाया। उन्होंने घटना को काफी दुखद बताया। घटना का कारण आपसी विवाद बताया जा रहा है।

पुजारी के भतीजा व पुत्र के साथ आरोपितों का मंगलवार से ही मोबाइल फोन को लेकर झगड़ा होने की बात सामने आ रही है। बुधवार की देर शाम भी वहां दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई थी, जिसमें कुछ लोग जख्मी भी हुए थे। घटना की सूचना पर थानाध्यक्ष सत्य प्रकाश झा मौके पर पहुंचे थे, लेकिन तब तक मामला सामान्य हो चुका था। गोली चलाने वाला आरोपी पक्ष मारपीट की प्राथमिकी दर्ज कराने देर रात विश्वविद्यालय थाना पहुंचा था, लेकिन सुबह होते ही उन लोगों ने मंदिर पर पहुंचकर पुजारी व उनके सहयोगी को गोली मार दी। गोली लगने से पुजारी की मौके पर ही मौत हो गई। पुजारी के पेट व सीना में चार गोली लगी है। बताया जाता है कि अपराधियों ने लगभग आठ राउंड गोली चलाई है। एसएसपी बाबू राम ने पुजारी एवं एक अपराधी की हत्या किए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पुजारी के परिजन एवं आरोपित सभी पूर्व से परिचित थे। आरोपितों का पहले से ही यहां आना-जाना था। अपराधी पेशेवर नहीं है। मोबाइल फोन को लेकर हुआ विवाद घटना का कारण हो सकता है। वैसे, मामले की जांच चल रही है। मंदिर परिसर में लगे सीसीटीवी को खंगाला जा रहा है। भागने वाले आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

0 comments