ei1WQ9V34771.jpg

विवि परिसर में आत्मदाह का प्रयास,परिणाम जारी नहीं होने से छात्रों में भारी आक्रोश


मुजफ्फरपुर, बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से पीजी तृतीय सेमेस्टर का परिणाम परीक्षा के आठ महीने बाद भी जारी नहीं होने से नाराज एक छात्र ने विवि परिसर में आत्मदाह का प्रयास किया। संयोग था कि विवि परिसर में ही विद्यार्थी परिषद का धरना चल रहा था। अभाविप के विवि संयोजक केशरीनंदन शर्मा व अन्य कार्यकर्ता थे। सबने छात्र को समझाकर रोका। छात्र ने कहा कि तीन वर्ष बीत गए और अबतक तृतीय सेमेस्टर का परिणाम भी नहीं आया। तीन वर्ष से पीजी में ही हैं इस कारण परिवार के सदस्यों से भी सुनने को मिल रहा है। आगे करियर अंधकारमय दिखने लगा है। इससे नाराज होकर आत्मदाह का प्रयास किया। यदि दो दिनों के भीतर परिणाम नहीं आता तो अब आरपार की लड़ाई होगी। विवि में ताला जड़ेंगे और कुलपति आवास पर प्रदर्शन होगा। पुराने पैटर्न पर हो गया मूल्यांकन, इस कारण हो रहा विलंब

विवि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पीजी तृतीय सेमेस्टर का परिणाम नए पैटर्न के अनुसार जारी करना है। ऐसे में कापियों की जांच में 45 प्रतिशत नंबर आने पर ही विद्यार्थियों को पास घोषित करना है। 70 में से 32 अंक आने पर ही विद्यार्थी पास होंगे। पहले 40 प्रतिशत अंक पर ही पास करना था। द्वितीय सत्र के परिणाम में विवि की ओर से यही गड़बड़ी हुई थी। चर्चा है कि इसी पैटर्न पर तृतीय सत्र का भी मूल्यांकन कर दिया गया। इस कारण सैकड़ों की संख्या में विद्यार्थियों का परिणाम प्रमोटेड हो जाएगा। ऐसे में हंगामा की आशंका को देखते हुए विवि की ओर से इसे ठीक किया जा रहा है। इस कारण विलंब हो रहा है।

0 comments