ei1WQ9V34771.jpg

शहर में जाम की समस्या के निदान एवं यातायात प्रबंधन समीक्षा बैठक में क्या क्या हुआ शख्त फैसला जानिये


मुजफ्फरपुर, शहर को जाम की समस्या से निजात दिलाने एवं यातायात प्रबंधन को लेकर शुक्रवार को वृहद रणनीति तैयार की गई। डीएम प्रणव कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में शहर की सभी सड़कों से चरणबद्ध तरीके से अतिक्रमण हटाने का निर्णय लिया गया। पहले करबला, मोतीझील-कल्याणी एवं हरिसभा रोड से सभी अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया गया है। इसके अलावा अन्य ऐसी सड़कों को चिह्नित करने को कहा गया। चार सड़कें तिलक मैदान रोड, सरैयागंज टावर रोड, जवाहर लाल रोड व करबला रोड में दुकान के बाहर रखे सामान को जब्त कर कार्रवाई का आदेश दिया गया है। सड़क पर अवैध तरीके से लगे वाहनों को जब्त (टोचन) कर जुर्माना वसूलने को कहा गया है। व्यावसायिक वाहनों के परमिट भी रद किए जाएंगे। पूर्व में जारी वन-वे के आदेश को सख्ती से लागू किया जाएगा। मालूम हो कि शहरवासियों को जाम से निजात दिलाने को कई बार रणनीति तैयार की गई। इसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका। स्थाई निदान के लिए डीएम एवं एसएसपी जयंत कांत ने सभी विभागों के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

ठेला व सामान जब्त करने के साथ लगेगा जुर्माना

डीएम ने कहा कि कुछ अतिक्रमण तुरंत हटाया जाए और कुछ बाद में। शुरुआती चरण में पांच सड़कों को चिह्नित कर वहां से स्थाई अतिक्रमण हटाएं। बैठक में ही करबला, मोतीझील-कल्याणी व हरिसभा रोड को चिह्नित करते हुए वहां से स्थाई अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया गया। नो वेंङ्क्षडग जोन में ठेला या अन्य माध्यम से सामान बिक्री करने पर कार्रवाई का आदेश दिया गया। ठेला को जब्त करते हुए उसे स्टेडियम में रखने को कहा गया। साथ ही पांच सौ रुपये जुर्माना करने का भी आदेश दिया गया। प्रमुख सड़कों पर सामान रखकर बिक्री पर रोक लगाने का आदेश दिया गया। तत्काल चार सड़कों को चिह्नित किया गया है। यहां भी सामान जब्त करते हुए जुर्माना व अन्य कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

अघोरिया बाजार चौक के चारों ओर सौ-सौ मीटर में डिवाइडर

जाम की जद में रहने वाले अघोरिया बाजार को लेकर रणनीति तय की गई। यहां चौराहे के चारों ओर सौ-सौ मीटर में डिवाइडर बनाया जाएगा। पथ निर्माण प्रमंडल-एक के कार्यपालक अभियंता को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। इससे चौक पर जाम की स्थिति पर नियंत्रण हो सकेगा। वहीं प्रमुख सड़कों में यातायात व्यवस्था में बाधा डालने वाले 10-10 बिजली व टेलीफोन के पोल हटाने को भी कहा गया है। बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता को 30 नवंबर से पहले बिजली के 10 पोल हटाने की जिम्मेदारी दी गई है।

80-100 जवानों की रहेगी तैनाती

शहर में ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए 80 से 100 जवानों को लगाया जाएगा। इनकी तैनाती ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए स्थाई तौर पर की जाएगी। एसएसपी ने सभी जवानों के लिए कोड जारी करने का आदेश दिया। इनके लिए अलग ड्रेस कोड भी होगा। इन्हें ट्रैफिक व्यवस्था से जुड़ी सामग्री भी दी जाएगी। ड्यूटी में लापरवाह जवानों पर कार्रवाई का भी आदेश दिया गया है।

सीसीटीवी कैमरे से अवैध पार्किंग की निगरानी

शहर के प्रमुख चौराहों पर सीसी कैमरे से वाहनों की निगरानी होगी। जो वाहन अवैध रूप से लगा होगा उसे टोचन कर यातायात थाने के जिम्मे कर दिया जाएगा। स्टेशन रोड के बाहर लगे आटो भी जब्त कर उसका परमिट रद करने को कहा गया है। रेवा रोड में भी बसों व आटो की अवैध पार्किंग पर रोक लगाने के लिए एमवीआइ को अभियान चलाने को कहा गया। जो भी वाहन यहां अवैध रूप से लगाए जाएंगे उसका परमिट रद किया जाएगा। डीएम ने पुल के पास फ्लैंक बनाने को भी कहा है।


लावारिस वाहनों की होगी नीलामी

बैठक में यह बात सामने आई कि एनएच के सर्विस लेन में गाडिय़ां लगी रहती हैं। इससे भी जाम एवं हादसे का खतरा बना रहता है। इनमें से लावारिस वाहन भी होते हैं। डीएम ने इन वाहनों को चिह्नित कर उसे जब्त करते हुए नीलाम करने के निर्देश दिए। वहीं थाने में लगे वाहनों को माड़ीपुर में चिह्नित जमीन में रखने की तैयारी करने का निर्देश मुशहरी सीओ को दिया।

0 comments