ei1WQ9V34771.jpg

बेकाबू हुआ बाईकर्स गैंग का आतंक मुजफ्फरपुर में पुलिस के सामने से छिनतई कर भाग निकलते बाइकर्स बदमाश


मुजफ्फरपुर, बाइकर्स बदमाशों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर दिन बाइकर्स बदमाश छिनतई व झपटटा मारने की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। वारदात को अंजाम देने के बाद पुलिस के सामने से भाग निकलते हैं, लेकिन पकड़ में नहीं आते। थाने में शिकायत करने के बाद भी पुलिस की तरफ से शिथिलता बरती जाती है। इस वजह से बाइकर्स बदमाशों के हौसले बुलंद हैं। रिकार्ड पर गौर करें तो अहियापुर का इलाका बाइकर्स बदमाशों के लिए सेफ जोन बन गया है। वहां हर दिन मोबाइल छिनतई व झपटटा मारने की घटनाएं हो रही हैं, जबकि गश्ती के साथ-साथ प्रत्येक चौराहों पर पुलिस की तैनाती का दावा किया जाता, लेकिन अपराधी आन स्पाट नहीं पकड़े जाते। पिछले पखवारे अहियापुर थाना क्षेत्र में

छिनतई की दो बड़ी घटनाएं हुईं। इसमें झपहां के समीप छिनतई के दौरान बाइक से गिरने से चौकीदार की पत्नी की मौत हो गई।

घटनास्थल पर चौकीदार द्वारा छिनतई में पत्नी की मौत की बात कही। अहियापुर इलाके में ही 12 मई की शाम अखाड़ाघाट रोड में जूरन छपरा से डाक्टर के यहां से इलाज कराकर स्कूटी से लौट रहीं प्रो. पिंकी कुमारी व उनके भाई मनोज कुमार को निशाना बनाया गया।बाइकर्स बदमाशों ने महिला प्रोफेसर से पर्स छीन लिया। पर्स में मोबाइल व नकदी थी। घटना में स्कूटी से

गिरकर दोनों घायल हो गए। इलाज कराने के बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई। हालांकि अब तक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। इसके अलावा अहियापुर व उससे सटे ब्रह्मपुरा, सदर व कांटी थाना क्षेत्र में भी बाइकर्स बदमाश उत्पात मचा रहे हैं। इन इलाकों में पूर्व में भी मोबाइल झपटने, छिनतई व लूट की कई घटनाएं हो चुकी हैं। हालांकि पुलिस अधिकारियों की तरफ से लगातार अपराधियों की गिरफ्तारी की बात कही जा रही, लेकिन घटनाएं नहीं थम रही।

बोले-सिटी डीएसपी

सिटी डीएसपी रामनरेश पासवान का कहना है क‍ि बाइकर्स बदमाशों की गिरफ्तारी को लेकर सूचना संग्रह कर छापेमारी की जा रही है। हाल ही में कई बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। संदिग्ध गतिविधि में शामिल लोगों को पकडऩे के लिए भी हर दिन वाहन जांच अभियान चलाया जाता है।

0 comments