top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Ali Haider

मुजफ्फरपुर; फिर डबल मर्डर से भारी तनाव दवा दुकानदार का गला काटा भीड़ ने हत्यारे की कर दी हत्या


मुजफ्फरपुर के मोतीपुर के पहाड़चक गांव में रविवार शाम दवा दुकानदार सह ग्रामीण चिकित्सक बच्चा किशोर दूबे की हत्या कर दी गई। पड़ोस के लालमोहन मांझी ने दबिया से उनकी गर्दन काट दी जिससे मौके पर मौत हो गई। इसके बाद हाट में हत्यारोपित लालमोहन मांझी को भीड़ ने पकड़ लिया और ईंट पत्थर से कूचकर व पीट-पीटकर मार डाला। बाद में उसके घर में भी तोड़फोड़ की। घटना की वजह बच्चा किशोर दूबे और लालमोहन के बीच विवाद माना जा रहा है।लालमोहन की लाश दुकानदार के घर से करीब 50 मीटर दूर बांध किनारे मक्के की खेत में मिली। देर शाम हुई घटना के तीन घंटे बाद पुलिस ने उसका शव खोजकर जब्त किया। उसका पूरा परिवार डर से गांव छोड़कर भागा हुआ है।

मुजफ्फरपुर मे एक्सपर्ट सिक्योरिटी के लिये संपर्क करे

घर में तोड़फोड़ से लालमोहन की पत्नी भी घायल बतायी जा रही है। सूचना पर मोतीपुर थाने की पुलिस पहुंची लेकिन घटना से आक्रोशित बच्चा किशोर दूबे के परिजन व ग्रामीणों ने शव को नहीं उठने दिया। वरीय अधिकारी को मौके पर बुलाने की मांग पर लोग अड़े रहे। विधायक अरुण कुमार सिंह पहुंचे और काफी मशक्कत के बाद भीड़ को समझाकर शांत कराया। इसके बाद मोतीपुर थानेदार मुकेश कुमार ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। रात में एसएसपी जयंतकांत भी घटनास्थल पर छानबीन के लिए पहुंचे। दवा दुकानदार के परिवार वालों से घटना के संबंध में जानकारी ली। इसके बाद वह लालमोहन मांझी के घर पर भी पहुंचे लेकिन वहां कोई परिजन नहीं मिला। एसएसपी ने थानेदार मुकेश कुमार को लालमोहन मांझी के परिजनों की तलाश करने का निर्देश दिया है। एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि दवा दुकानदार बच्चा किशोर दूबे को लालमोहन मांझी ने गला काट का मार डाला है। जबकि लालमोहन मांझी को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला। उसके घर में भी तोड़फोड़ की गई है। लालमोहन के परिवार वाले डर कर छिपे हुए हैं। उन्हें तलाशा जा रहा है। दोनों में आपसी विवाद की बात सामने आ रही है।

0 comments

留言


bottom of page