ei1WQ9V34771.jpg

भ्रष्ट इंजीनियर के गर्दन तक पहुंचा कानून का शिकंजा मुजफ्फरपुर में ग्रामीण कार्य विभाग का बेईमान इंज


मुजफ्फरपुर, पिछले साल स्कार्पियो व आवास से 67 लाख रुपये बरामदगी के मामले में ग्रामीण कार्य विभाग, दरभंगा के तत्कालीन प्रभारी अधीक्षण अभियंता (कार्यपालक अभियंता) अनिल कुमार को पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें पूछताछ के लिए पहले फकुली ओपी पर बुलाया गया था। बाद में शहर में लाकर उनसे पूछताछ की गई। इस दौरान संतोषजनक उत्तर नहीं देने पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। शाम में उन्हें विशेष कोर्ट निगरानी के समक्ष पेश किया गया।

यहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। अभियंता के स्वजनों ने बताया कि दो दिनों से मुजफ्फरपुर पुलिस की ओर से मोबाइल पर काल कर बुलाया जा रहा था। पुलिस अधिकारी पूछताछ के लिए फकुली ओपी पर अभियंता को बुलाए जाने से इन्कार कर रही है। शहर में पहुंचने पर उसे गिरफ्तार किए जाने की पुष्टि की गई है।

फकुली में स्कार्पियो से 18 लाख व आवास से मिले थे 49 लाख रुपये

पिछले साल 28 अगस्त की सुबह मुजफ्फरपुर-पटना मार्ग एनएच-77 पर कुढऩी थाना के फकुली ओपी के निकट वाहन जांच की जा रही थी। जांच के दौरान अभियंता की कार की सीट के नीचे झोला में रखा 18 लाख रुपये बरामद हुए थे। बाद में दरभंगा के लहेरियासराय थाना के बड़हथ्था रोड स्थित एक अपार्टमेंट में किराये के फ्लैट की तलाशी में 49 लाख रुपया बरामद हुआ था। तत्कालीन फकुली ओपी अध्यक्ष उदय कुमार सिंह के बयान पर कार्यपालक अभियंता अनिल कुमार के विरुद्ध कुढऩी थाना में आय से अधिक संपत्ति व भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

तत्कालीन एएसपी पश्चिमी इमरान मसूद को इस मामले का आइओ बनाया गया था। उनके तबादले के बाद डीएसपी पश्चिमी अभिषेक आनंद को इसका आइओ बनाया गया है।

0 comments