ei1WQ9V34771.jpg

मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल मे जांच को वसूला जा रहा था हजारो रूपये जमकर मचा बवाल कर्मि जान बचाकर भागा



मुजफ्फरपुर स्थित सदर अस्पताल में शुक्रवार को पैथोलॉजी विभाग में जांच कराने के लिए लाइन में लगे लोगों ने जमकर हंगामा किया। 50 से अधिक की संख्या में लोग लाइन लगाकर खड़े थे। इसी दौरान जांच कर्मी ने समय समाप्त होने की बात कहकर जांच बंद कर दिया। इससे लोगों का आक्रोश भड़क उठा। लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। यह देखकर कर्मी ने गेट को भीतर से बंद कर दिया। बाहर से लोग दरवाजा पीटते रहे। लेकिन, उसने दरवाजा नहीं खोला।



जमकर हंगामा और प्रदर्शन होने लगा। अफरातफरी का माहौल बन गया। सुरक्षागार्ड को भी इसकी सूचना दी गयी। लेकिन, वे अपनी जगह से भी नहीं हिले। लोग गेट तोड़ने पर उतारू हो गए। वहीं पर जांच कराने के लिए मौजूद अन्य लोगों ने ही हस्तक्षेप कर मामला को शांत कराया। फिर जैसे ही वहां से भीड़ हटी। जाँचकर्मी चुपके से भाग निकला।



सदर अस्पताल में फ्री में होता है ब्लड टेस्ट

ब्लड टेस्ट कराने पहुंचे राजेश कुमार, पंकज कुमार, रीना कुमारी ने बताया कि दो घन्टे से लाइन में खड़ा कराकर रखा गया था। देरी होने पर वे लोग बार-बार जांचकर्मी को जल्दी टेस्ट करने की बात बोल रहे थे। वह आराम से काम कर रहा था। मोबाइल पर ही चिपका हुआ था।



जब लोगों ने उसपर दवाब बनाया तो 1500 रुपए देने को कहने लगा। जबकि सदर अस्पताल में ब्लड टेस्ट फ्री में होता है। बावजूद इसके जांच कर्मी द्वारा पैसे की मांग की गई।

जब लोगों ने इसका विरोध किया तो उसने समय समाप्त होने की बात कही। इसके बाद अंदर से गेट बंद कर लिया। इससे लोगों का आक्रोश भड़क उठा। बार-बार कर्मी को गेट खोलने के लिए कहा गया। लेकिन, उसने नहीं सुना। इधर, सिविल सर्जन डॉ. वीरेंद्र सिंह ने बताया कि पूरे मामले पर उपाधीक्षक से रिपोर्ट मांगी जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

0 comments