top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Ali Haider

नवाब मलिक पर ईडी की कार्रवाई: भाजपा पर भड़के संजय राउत, सुप्रिया सुले ने बताया महाराष्ट्र का अपमान


महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री अल्पसंख्यक, उद्यम और कौशल विकास मंत्रालय एवं एनसीपी के मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता और मुंबई शहर के अध्यक्ष नवाब मलिक को आज ED ने गिरफ्तार कर लिया है इसके बाद मुंबई में राजनीतिक पारा गर्म हो गया है। जगह जगह NCP कार्यकर्ता बीजेपी केंद्र सरकार के विरोध में प्रदर्शन कर रहें है।



SRS आत्महत्या मामले शाहरुख़ ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान की ड्रग्स मामले में गिरफ़्तारी के बाद नवाब मलिक ने केंद्रीय एजेंसी और कई अधिकारियों के ख़िलाफ़ मोर्चा खोला हुआ था. मलिक नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) मुंबई के डिविजनल डायरेक्टर रहे समीर वानखेड़े पर ख़ास तौर पर हमलावर रहे.



एनसीपी और शिवसेना के कई नेता मलिक के ख़िलाफ कार्रवाई को इसी से जोड़कर देख रहे हैं. शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने मलिक के ख़िलाफ़ कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए ईडी को 'एक्सटेंडेड डिपार्टमेंट ऑफ़ बीजेपी' बताया है.महाराष्ट्र में सत्ता पक्ष के नेताओं ने ईडी की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं. महाराष्ट्र की सरकार में एनसीपी के अलावा कांग्रेस और शिवसेना भी शामिल हैं.



महाराष्ट्र के जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने नवाब मलिक की गिरफ़्तारी को 'केंद्रीय सत्ता का दुरुपयोग' बताया है. शिवसेना नेता संजय राउत ने कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस तरह अधिकारी नवाब मलिक को ले गए वो 'महाराष्ट्र सरकार के लिए चैलेंज है. वो कैबिनेट मंत्री हैं.'

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने नवाब मलिक के ख़िलाफ़ हुई कार्रवाई को लेकर कहा है, "राजनीति का स्तर गिर चुका है. ये बहुत निचले स्तर की राजनीति है. केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल ठीक नहीं."

समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव ने भी नवाब मलिक की गिरफ़्तारी पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा, "भारतीय जनता पार्टी जब घबराती है तो लोगों को अपमानित करती है. झूठे मुकदमे लगाकर जेल भेजती है."

वहीं, एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने मलिक की गिरफ़्तारी के पहले ही उन पर कार्रवाई को लेकर आशंका जाहिर की थी.

पवार ने कहा, "मलिक खुलकर बोलते हैं. हमें यकीन था कि कोई केस निकालकर उन्हें परेशान किया जाएगा."

पवार ने चूनी हुई सरकार के वरिष्ठ मंत्री को अनर्गल आरोप लगाकर गिरफ्तार करने की निंदा करते हुएं इस घटना को निचले स्तर का बताया उन्होंने कहा की बीजेपी का एजेंडा है बड़ी बड़ी बाते करना और दुसरे विचारधारा के लोगों को अपमानित करना बीजेपी ने मुझ पर भी दाउद इब्राहिम व अंडरवर्ल्ड से रिश्तों का बिना सबूत के आरोप लगाया था

महाराष्ट्र में लोग ये पूछ रहे है की मंत्री नवाब मलिक पर तब क्यों कारवाई करने की हिम्मत नहीं की जब बीजेपी के फडनवीस मुख्यमंत्री थे उनकी सरकार थी?

बीजेपी अपने घटते जनाधार और देश में बीजेपी के विरोध में जनता के आक्रोश से बौखला चुकी है पूरी NCP Shivsena congress और महाराष्ट्र की जनता उनके साथ है।

0 comments

댓글


bottom of page