top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Ali Haider

मुजफ्फरपुर के बुजुर्ग ओझा की वैशाली मे धारदार हथियार से निर्दयतापूर्वक हत्या


मुजफ्फरपुर वैशाली थाना क्षेत्र के मदरना ग्राम में झाड़फूंक कर इलाज करने ससुराल आए 60 वर्षीय बुजुर्ग की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। उनका शव घर के दरवाजे के सामने बने कुएं की नाली में मिला। मृतक मुजफ्फरपुर जिले के सिवाइपट्टी थाना क्षेत्र के खेमकरण पकड़ी निवासी रामाधार सिंह थे। घटना की खबर सुनते ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। खबर मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया। इस संबंध में मृतक की रिश्तेदार सुनीता देवी ने सात लोगों को करते हुए वैशाली थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। मनीष कुमार, सतीश कुमार, रोहित कुमार, अभिषेक कुमार, उसकी माता सीता देवी, पिता हरिवंश सिंह, एवं हरिवंश सिंह के साढू रघुनाथ सिंह (ग्राम बिशुनपुर) को नामजद किया गया है ।


बच्‍चे का इलाज करने के लिए ले गया था बुजुर्ग को

घटना की सूचना पाकर पहुंचे रामाधार सिंह के बेटे संजय कुमार सिंह एवं राज किशोर सिंह ने बताया कि उनके पिता झाड़फूंक का काम करते थे। 21 फरवरी को ससुरालवालों का पट्टीदार मनीष कुमार उनके यहां पहुंचा और पिता को बुलाकर ले गया था। मनीष के परिवार में कोई बच्चा बीमार चल रहा था। उसका इलाज ये करते थे। रात में उन्‍होंने झाड़फूंक किया भी था। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के बिछावन से खून से सने कपड़े भी बरामद किए हैं। घटना के बाद दो नामजद अभियुक्‍तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्‍य नामजद घर छोड़ कर भाग गए हैं। प्रभारी थानाध्यक्ष ने बताया कि जल्द हीं उद्भेदन कर लिया जाएगा।



दो अभियुक्‍तों को पुलिस ने किया गिरफ्तार


जानकारी के अनुसार घटना का कारण झाड फूंक हीं है। नामजद अभियुक्त हरिवंश सिंह के छोटे बेटे की तबियत अक्सर खराब रहती थी। उसका इलाज रामाधार सिंह एक साल से कर रहे थे लेकिन उसकी तबियत ठीक नहीं हो रही थी। तब हरिवंश सिंह एवं उनके लड़के को शक हुआ कि ओझा ने ही इसे बिमार कर रखा है। इसी अंधविश्‍वास में हत्‍या की गई है। प्रभारी थानाध्यक्ष श्रीकांत सिंह ने बताया कि त्वरीत कारवाई करते हुए नामजद अभियुक्त रोहीत कुमार एवं अभिषेक कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है।

0 comments

Comments


bottom of page