ei1WQ9V34771.jpg

बिहार में बेतहाशा बढ़ी बेरोजगारी 10 महीने में 2.67 लाख बेरोजगारों ने पोर्टल पर सरकार से मांगा नौकरी


मुजफ्फरपुर न्यूज़ ब्यूरो( स्वीट सिटी )

बिहार में रोजगार मांगने वालों की संख्या में वृद्धि हुई है। कोरोना काल में देश-विदेश की कंपनियों से बेरोजगार हुए लोग अब रोजगार के लिए तेजी से निबंधन करा रहे हैं। आलम यह है कि पिछले पांच साल की तुलना में इस साल जनवरी तक सबसे अधिक लोगों ने रोजगार के लिए निबंधन कराया है। पिछले साल की तुलना में चार गुना अधिक बेरोजगारों ने निबंधन पोर्टल पर किया है।


रोजगार मांगने वालों में बेरोजगारों के साथ ही कुछ स्व-रोजगार कर रहे लोग भी शामिल है। हालांकि राहत की बात यह है कि निबंधन करने वालों में एक भी छात्र नहीं है, जो पढ़ाई के साथ-साथ रोजगार भी मांग रहा हो। पोर्टल पर अब तक 13 लाख से अधिक निबंधित हो चुके हैं। बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने नेशनल कॅरियर सर्विस पोर्टल बनाया है।



जॉब फेयर या नियोजन सह मार्गदर्शन मेला लगता है तो इन्हीं निबंधित लोगों को आमंत्रित किया जाता है। बिना निबंधन वालों को रोजगार मेले में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाती। साल 2015-16 से यह व्यवस्था प्रभावी है। ऑनलाइन निबंधन शुरू होने के बाद 2016-17 ही ऐसा साल रहा, जब छह लाख से अधिक लोगों ने रोजगार के लिए निबंधन कराया था। इसके बाद इसमें लगातार कमी होती रही। लेकिन मौजूदा वित्तीय वर्ष 2021-22 में एक बार फिर निबंधन की संख्या में वृद्धि हो गई है। अब तक दो लाख 67 हजार से अधिक बेरोजगारों ने निबंधन किया है।



अक्टूबर में सबसे अधिक निबंधन


सबसे अधिक अक्टूबर में निबंधन हुआ है। इस महीने 63 हजार 524 बेरोजगारों ने पोर्टल पर निबंधन किया है। जबकि अप्रैल में 3581, मई में सबसे कम 1991 ने ही निबंधन किया था। इसी तरह जून में 7967, जुलाई में 18 हजार 17, अगस्त में 20 हजार 968, सितंबर में 53 हजार 906, नवम्बर में 62 हजार 983, दिसम्बर में 20 हजार 766 तो जनवरी 2022 में 13 हजार 932 बेरोजगारों ने पोर्टल पर निबंधन किया है।

वर्ष बेरोजगारों का निबंधन

2015-16 5146

2016-17 605415

2017-18 153728

2018-19 143866

2019-20 118839

2020-21 78259

2021-22- जनवरी तक 267635

कुल 1372888

0 comments