top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Ali Haider

मुजफ्फरपुर में बसुधा केंद्र में घुसकर संचालक की हत्या अपराधियों ने दो और लोगों पर की फायरिंग


मुजफ्फरपुर: शहर में मुख्यमंत्री,सुरक्षा की पुख्ता इंजताम, इसके बावजूद बिहार में अपराधियों का मनोबल इतना बढ़ चुका है कि दिन दहाड़े हत्या की जैसी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं. बुधवार को हथियारबंद 3 अपराधियों ने मुजफ्फरपुर में बसुधा केंद्र के संचालक को गोली मार दी और मौके से फरार हो गये. गोली लगने से घायल पंकज झा ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. इस घटना से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है.बताया जा रहा है कि जिस वक्त अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया, उस समय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मुजफ्फरपुर में सभा चल रही थी और पुलिस के अधिकारी उनकी सुरक्षा में लगे हुए थे.पुलिस के अनुसार मुजफ्फरपुर के सकरा थाना क्षेत्र के केशोंपुर हाट चौक स्थित बसुधा केंद्र में अचानक तीन हथियारबंद अपराधी घुसे और वहां बैठे बसुधा केंद्र के संचालक पंकज कुमार झा को गोली मार दी. गोली मारने के बाद सभी अपराधी मौके से फरार हो गये. आनन-फानन में घायल पंकज झा को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी.

वैसे स्थानीय लोगों की माने तो अपराधियों को पकड़ने में बगल के एक नाई दुकानदार भी घायल हो गया. भाग रहे अपराधियों से वो हाथापाई और धक्का-मुक्की करने लगा. इसी दौरान एक अपराधी पिस्टल निकालकर फायरिंग करने लगे. वह बचने के लिए भागा. इसी दौरान लड़खड़ा कर गिर पड़ा, जिसमें उसकी टांग टूट गयी.

बताया जाता है कि भागने के दौरान अपराधियों ने महिला मीणा देवी पर भी दो राउंड फायरिंग कर दी. हालांकि वे बाल-बाल बच गयी. बाइक सवार तीन अपराधी एक राहगीर की बाइक भी लूटकर ले गये.



सकरा थाना के चन्दनपट्टी के रहनेवाले पंकज कुमार झा (35) भेरगरहा चौक पर वसुधा केंद्र चलाते थे. इसके साथ ग्राहकों के आधार कार्ड से उनके खाता से रुपये निकालकर भी देते थे. आसपास के लोग कैश लूटने की बात भी बता रहे हैं, लेकिन,फायरिंग के पीछे के कारणों का पता अभी नहीं चला है.

स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि बाइक से तीन अपराधी समस्तीपुर की तरफ से आये थे. बसुधा केंद्र में जाने के साथ ही संचालक को तीन गोली मार दी.उस वक्त वसुधा केंद्र पर कई ग्राहक खड़े थे, जो भागने लगे.

घटना की सूचना के बाद सकरा पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस को देखते ही लोगों का आक्रोश भड़क उठा. जमकर नोकझोंक हुई. पुलिसकर्मियों के समझाने के बाद भी कोई शांत नहीं हुआ. लोगों ने कुछ देर के लिए मुज़फ़्फ़रपुर-समस्तीपुर हाइवे को भी जाम कर दिया. थानेदार सरोज कुमार ने कहा कि आरोपितों को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है. स्थानीय महिला मीणा देवी ने बताया कि घटना के बाद अपराधी मुजफ्फरपुर की तरफ भाग निकले.

0 comments

Comments


bottom of page