top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Ali Haider

गाजियाबाद मे युवक की लूट के बाद हत्या बिहार मे डेढ साल के मासूम और परिवार पे गिरा दुखो का पहाड़


गाजियाबाद में मधुबनी के युवक की हत्या की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया है. घटना बीते गुरुवार की रात की है. मृतक संतोष यादव (35 वर्ष) मधुबनी के खुटौना प्रखंड के लौकहा थाना क्षेत्र के बौरहा गांव का रहने वाला था. घटना के बाद परिजन बदहवास हो चुके हैं.


परिजनों ने बताया कि संतोष गाजियाबाद के दिलामोर थाना क्षेत्र में इंडियन ऑयल गैस एजेंसी के एक ठेकेदार के यहां काम करता था. ठेकेदार द्वारा उससे गैस सिलेंडरों की लोडिंग और अनलोडिंग करवाई जाती थी. पहले भी वह उसी ठेकेदार के यहां राजस्थान के जयपुर में काम करता था.


परिजनों का कहना है कि तीन महीने से उसे ठेकेदार ने गाजियाबाद में काम पर लगा दिया था. ठेकेदार ने उसे कई महीने से भुगतान नहीं किया था. बहुत कहने पर गुरुवार की शाम आधा बकाया दिया. दो-तीन दिन पहले कर्ज के तकादे के चलते घर वालों ने उससे रुपये भेजने को कहा था. वह अगले दिन बैंक के माध्यम से पत्नी के खाते में भेजने वाला था कि इसी बीच रास्ते में किसी ने उस पर हमला कर दिया.


साथियों ने संतोष को सड़क किनारे पाया था और देखा कि उसका सिर फटा हुआ है. साथ ही सड़क किनारे खून फैला हुआ है. माना जा रहा है कि हमले में सिर फटने से उसकी जान चली गई और रुपये लूट लिए गए. परिजनों से मिली जानकारी के मुताबिक दिलामोर थाने की पुलिस का रवैया ठीक नहीं था. काफी देर बाद थाने की पुलिस घटनास्थल पर गए. उसके बाद मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हत्या के सही कारण का खुलासा हो सकेगा.


खबर सुनकर मां और पत्नी कई बार बेहोश


इधर, घटना के बाद मधुबनी स्थित गांव में परिजनों में कोहराम मच गया है. मजदूर की मां और पत्नी इस खबर को सुनने के बाद कई बार बेहोश हो गई. संतोष यादव की एक डेढ़ साल की बच्ची है.

0 comments

Comments


bottom of page