top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Ali Haider

सावधान:- मुजफ्फरपुर में बन रहीं गंभीर रोगों की नकली दवाएं पूरे उत्तर बिहार और नेपाल तक सप्लाई


मुजफ्फरपुर मे नकली दवा माफिया गंभीर बिमारियों के नकली दवा से लोगों का जीवन दाव पर लगा दे रहे है नकली दवाओं का एक बड़ा नेटवर्क सक्रिय है। बाजार में हर महीने लाखों रुपये की नकली दवाओं की खपत हो रही है। इसका नेटवर्क जुरान छपरा और ब्रह्मपुरा इलाकों में शहर के मेडिकल हब एसकेएमसीएच के आसपास है। लेकिन, निर्माण देहात और शहर के बाहरी इलाकों में हो रहा है। तीन महीने पहले अहियापुर स्थित एसकेएमसीएच एनीमिया और डायलिसिस के मरीजों के लिए जरूरी नकली दवाएं तैयार कर रहा था, जबकि पांच महीने पहले औराई में नकली कफ सिरप बनाने का ठिकाना पकड़ा गया था. अभी तक दोनों मामलों में पुलिस कार्रवाई लंबित है।

पुलिस जांच में यह खुलासा नहीं हो सका है कि नकली दवा बनाने के रैकेट में कौन शामिल है और इसकी बिक्री किन शहरों में होती है। अहियापुर में 25 नवंबर, 2021 को एक दवा कंपनी के अधिकारी ने शिकायत दर्ज कराई कि उनकी कंपनियों के नकली ब्रांड SKMCH के साथ बनाए जा रहे हैं। पुलिस टीम ने जब सरोज कुमार के ठिकाने पर छापा मारा तो डायलिसिस के मरीजों को एनीमिया पर दी जाने वाली दवाएं आदि नकली सामान बरामद किया गया. सरोज के नाम पर अहियापुर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। अभी तक इस मामले में चार्जशीट का इंतजार है।


कोर्ट को चार्जशीट का इंतजार


शीतल कुमार झा की शिकायत पर पुलिस टीम ने रामपुर चौक के पास स्थानीय अंकज कुमार के घर के बाहर भारी मात्रा में अलग-अलग नाम के नकली कफ सिरप जब्त किए. शीतल झा की अर्जी पर औराई थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. अभी कोर्ट इस मामले में पुलिस के चार्जशीट या फाइनल रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। कानूनी प्रक्रिया अपने जगह है लेकिन ये माना जा रहा है की मुजफ्फरपुर से पूरे उत्तर बिहार और नेपाल तक नकली दवाओं का अवैध धंधा चल रहा है और मरीज के जान के लिये गंभीर खतरा मंडरा रहा है दवा खरीदने से पहले बहुत सावधानी बरतने की जरुरत है।

0 comments

תגובות


bottom of page