ei1WQ9V34771.jpg

मुजफ्फरपुर मे धार्मिक जुलूस के दौरान दलितो और स्वर्णो मे हिंसक झड़प मामला दलित टोला मे पसरा सन्नाटा


मुजफ्फरपुर के पारू कर्मवारी गांव में अष्टयाम जुलूस में बज रहे डीजे पर डांस करने को लेकर दलितों और स्वर्णो में हिंसक झड़प हुईं । जमकर लाठी-डंडे चले थे। इसमें दोनों पक्ष की ओर से महिला समेत नौ लोग जख्मी हो गए। सभी को पारू सीएचसी में भर्ती कराया गया। वहां से डॉक्टर ने एक की हालत गंभीर देख बेहतर इलाज के लिए एसकेएमसीएच रेफर कर दिया। मामले में दो एफआईआर दर्ज करायी गई है।

पीडित मकेश्वर राम ने बताया की बीते मंगलवार की रात गाऔव में अष्टयाम हुआ था जिसका जुलूस उसके घर के बाहर से गुजरा तो घर के बच्चे डीजे पर डांस करने लगे जुलूस मे शामिल मनीष सिंह,उपेंद्र सिंह,कमलेश सिंह ,संतोष सिंह ,शैलेन्द्र सिंह ,छोटू कुमार सिंह ,बालेंदर उर्फ नेता सिंह ,बसंत सिंह ,भुरकुन सिंह ,झुनू सिंह, मोहित कुमार सिंह विपिन सिंह, पंकज कुमार सिंह ने परिवार और दलित पड़ोसियों को जाति सूचक गंदी गाली देते हुए हमला कर दिया दलित महिलाओं ने जब विरोध किया तो घातक धारदार हथियारों तलवार भाला लोहे के रॉड से हमला किया गया महिलाओं के साथ उक्त लोगों ने दुर्व्यवहार किया और घरो मे आगजनी पर उतर गये।

बीचबचाव करने आए बहू से छेडख़ानी की गई और बेटे को जानवरों की तरह मारा पीटा गया। बेटा दिनेश राम बहू खुशबू देवी भाई फुलेश्वर राम,तिलेश्वर राम, पुष्पा देवी ,सुमित्रा देवी हमले मे गंभीर रूपसे घायल है।पुलिस ने सभी को पीएचसी मे भर्ती कराया वहां से भाई फुलेश्वर राम को एसकेएमसीएच में रेफर करना पड़ा जहां वह एक एक सांस के लिये संघर्षरत है।

वहीं दुसरे पक्ष प्रमोद सिंह ने चाकू से हमला करने का आरोप लगाते हुएं भतीजे उपेंद्र सिंह और बालेंदर सिंह के को हमला कर घायल करने का मकेश्वर राम,दशरध राम, फुलेश्वर राम तिलेश्वर राम और अन्य 6 के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराया है।

तनाव के बीच दलित टोला मे सन्नाटा पसरा हुआ है ज्यादातर लोग डर से घर छोड़ कर शायद कही और चले गये है।

0 comments