ei1WQ9V34771.jpg

मुजफ्फरपुर की एक प्रेम कहानी का दुखद अंत,प्रेमिका ने मुजफ्फरपुर और प्रेमी ने जयपुर मे की खुदकुशी


मुजफ्फरपुर दो हंसो जैसे प्रेमी युगल की जोड़ी ऐसी बिछड़ी कि ख़बर सुनने सुनने वालो का कलेजा फट सा गया उनकी आंखे भी आंसुओं से डबडबा जो पहले इनके बारे मे जानते तक नहीं थे दो मोहब्बत करने वालों का ऐसा अंजाम दिल दहला गया।

मुजफ्फरपुर की एक प्रेम कहानी का बड़ा दर्दनाक अंत हुआ। कोसो दूर जब प्रेमिका ने मुजफ्फरपुर में फंदा लगाकर अपनी जान दे दी तो प्रेमी ने जयपुर में 8वीं मंजिल से कूद कर अपनी जीवन लीला भी समाप्त कर ली।जयपुर के पूर्णिमा इंजीनियरिंग कॉलेज में अंतिम वर्ष का छात्र था विवेक कुमार।

सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनो को घटना की जानकारी दी। जानकारी मिलने पर परिजन बॉडी लेने के लिए जयपुर के लिए रवाना हो गये।परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार विवेक मुजफ्फरपुर केएमपी थाना क्षेत्र की रहने वाली सीए की छात्रा अंजलि जायसवाल से बचपन से प्या करता था। दोनों के बीच कक्षा 5-6 में दोस्ती हुई और फिर वह दोस्ती एक अटूट प्यार में बदल गई। लेकिन अंजली के परिजनों को दोनों का प्यार गवारा नहीं था। जिसे लेकर अंजली के परिजन विवेक पर कई बार अंजली का साथ छोड़ने का भी दवाब बनाते थे। लेकिन उसके बाद भी दोनों फोन पर चुपके-चुपके बात किया करते थे। बुधवार सुबह किसी बात को लेकर विवेक और अंजली के बीच हलका विवाद हुआ

जिसके बाद विवेक साह ने अपना फोन बंद कर लिया। जब कुछ घंटों बाद विवेक ने अपना फोन चालू किया को उसके पास अंजली के कई मैसेज और फोन कॉल्स आये हुए थे। जिस पर विवेक ने अंजली को फोन किया लेकिन जब उसे पता चला की अंजली ने कमरे में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया है तो विवेक कॉलेज की छत पर गया और 8वीं मंजिल से कूद गया। जिसके बाद कॉलेज स्टाफ और छात्र उसे महात्मगांधी अस्पताल लेकर गये लेकिन डॉक्टरों ने उसे चेक कर मृत घोषित कर दिया। जिस पर पुलिस ने विवेक के परिजनों को घटना की जानकारी दी।

मामले की मुजफ्फरपुर और जयपुर दोनो जगह जांच जारी है मुजफ्फरपुर पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चलेगा। घटना के बाद स्वजनों में कोहराम मच गया है। प्रारंभिक जांच में पता चला कि प्रेम-प्रसंग में छात्रा ने खुदकुशी की है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर स्थिति स्पष्ट करने में जुटी है। उसके पिता किराने की दुकान चलाते हैं। बुधवार की रात छात्रा ने घरवालों के साथ खाना खाया था। इसके बाद अपने कमरे में सोने चली गई। गुरुवार की सुबह देर तक कमरा बंद देख स्वजन परेशान हो गए। दरवाजा खटखटाने के बाद कोई आवाज नहीं मिलने पर स्वजन को अनहोनी की आशंका हुई। इस बीच सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। जब दरवाजा तोड़ा गया तो देखा कि छात्रा का शव पंखे से झूल रहा है। दुपट्टे को काटकर शव नीचे उतारा गया। युवती का चेहरा काला पड़ गया था। उधर, जयपुर में जान देने वाले इंजीनियर‍िंग छात्र मुजफ्फरपुर के ही विवेक की पढ़ाई जून में पूरी होने वाली थी। इस बीच नोएडा की एक कंपनी में उसका चयन हो गया था। गुरुवार को उसका इंटरव्यू था। विवेक के मौत की जानकारी मिलने के बाद स्वजन जयपुर के लिए रवाना हो गए है। घर पर विवेक का भाई राहुल मौजूद था। उसने बताया कि उसके पिता सागर साह मछली व्यवसायी हैं। कहा कि गुरुवार की सुबह सवा सात बजे विवेक के मोबाइल पर एक काल आया था। वह बात करते हुए अपने कमरे से निकला। इसके बाद उसने आठ मंजिले मकान से कूदकर जान दे दी। उसका मोबाइल भी क्षतिग्रस्त हो गया। जयपुर पुलिस ने मोबाइल को जब्त कर लिया है।

विवेक के चाचा संजय साह ने बताया, 'दोनों के अफेयर के बारे में जानकारी थी। अगर लड़का आकर कहता कि शादी करना है तो आराम से करवा देते। मुझे लगता है कि लड़की पक्ष को यह रिश्ता मंजूर नहीं रहा होगा। वे लोग इसे लेकर लड़की को टॉर्चर करते होंगे। जिस कारण उसने सुसाइड किया। इसका पता लगने पर विवेक ने भी अपनी जान दे दी।'

0 comments