top of page
ei1WQ9V34771.jpg
  • Ali Haider

हेडमास्टर की कारस्तानी उजागर 7.25 लाख रुपये का गबन अनियमितता के मामले में प्राथमिकी दर्ज


मुजफ्फरपुर । कटरा प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय (उमवि) बेरई के प्रधानाध्यापक की ओर से 7.25 लाख रुपये गबन का मामला सामने आया है। डीपीओ एसएसए अमरेंद्र कुमार पांडेय ने मामले को गंभीरता से लेते हुए कटरा के बीईओ को आरोपित प्रधानाध्यापक पर 7.25 लाख रुपये गबन, विभागीय राशि अपने नाम पर निकासी करने, अनुशासनहीनता और मध्याह्न भोजन योजना में अनियमितता के मामले में प्राथमिकी दर्ज कराने को कहा है। डीपीओ ने डीएम

प्रणव कुमार, डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी और कटरा के बीडीओ सह प्रखंड नियोजन इकाई के अध्यक्ष को भी इसकी जानकारी दी है। बताया है कि प्रधानाध्यापक ने वित्तीय प्रबंधन प्रणाली के खिलाफ प्रथम किस्त के दो लाख रुपये भवन निर्माण सामग्री की खरीदारी के नाम पर निकासी कर ली। प्रधानाध्यापक ने स्पष्टीकरण में यह स्वीकार किया है

कि 85 हजार और ढाई लाख रुपये अपने नाम से निकासी की। इसका उपयोगिता प्रमाणपत्र भी उपलब्ध नहीं कराया है। विद्यालय के खाते में 29 जून 2021 को सात लाख 25 हजार 814 रुपये थे। इसका गबन प्रधानाध्यापक ने किया। साथ ही इसकी उपयोगिता भी विभाग को उपलब्ध नहीं कराई। मध्याह्न भोजन के संचालन में भी अनियमितता : प्रधानाध्यापक के खिलाफ मध्याह्न भोजन के संचालन में भी अनियमितता की शिकायत की गई है। चावल वितरण में गड़बड़ी को लेकर छात्र-छात्राओं की शिकायत और मामले से जुड़ी वीडियो रिकार्डिंग की सीडी भी कार्रवाई के लिए भेजी गई है। हालांकि साक्ष्य के बाद भी प्रधानाध्यापक की ओर से इस आरोप को निराधार बताया गया है। डीपीओ ने बताया कि एचएम को उच्चाधिकारी के आदेश की अवहेलना का भी दोषी पाया गया है। जब डीपीओ स्कूल में औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे तो सभी शिक्षक एक साथ बैठकर बात कर रहे थे। साथ ही विद्यार्थी भी बातचीत में मशगूल थे। जब इन मामलों को लेकर डीपीओ ने प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण पूछा तो उनकी ओर से उत्तर नहीं दिया गया।

0 comments

Komentarze


bottom of page