ei1WQ9V34771.jpg

मुजफ्फरपुर में बड़ा फर्जीवाड़ा सड़क बनी ही नहीं पंद्रह लाख की हो गई निकासी


मुजफ्फरपुर, बोचहां की विशुनपुर जगदीश पंचायत में मनरेगा से बनने वाली सड़क में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। पंचायत में सड़क के लिए स्वीकृत 15 लाख रुपये की निकासी कर ली गई। जांच में यह बात सामने आई की सड़क बनी ही नहीं। मामला पकड़ में आने के बाद डीडीसी आशुतोष द्विवेदी ने कार्रवाई का आदेश

दिया। इसके आलोक में कार्यक्रम पदाधिकारी ने बोचहां थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। साथ ही राशि

की वसूली को लेकर भी कार्रवाई की जा रही है। मामले में दोषी पाए गए चार लोगों से राशि की वसूली की जा रही है। बोचहां के कार्यक्रम पदाधिकारी द्वारा दर्ज प्राथमिकी के अनुसार 15 लाख 79 हजार रुपये से सड़क का निर्माण विशुनपुर पंचायत में होना था। तत्कालीन कार्यक्रम पदाधिकारी विनोद कुमार सिंह, लेखापाल सतीश कुमार, पंचायत रोजगार सेवक हृदयानंद महतो एवं एजेंसी कात्यायनी इंटरप्राइजेज

की पूनम पाठक मिलीभगत से राशि की निकासी कर ली गई।इस राशि से सड़क का निर्माण किया ही नहीं गया। जांच में फर्जीवाड़ा पकड़े जाने के बाद इन सभी से राशि की वसूली की कार्रवाई शुरू की गई। सभी से 3.20-3.20 लाख रुपये की वसूली का नोटिस जारी किया गया है। कार्यक्रम पदाधिकारी की रिपोर्ट के अनुसार यह राशि अब तक जमा नहीं की गई है।

0 comments