ei1WQ9V34771.jpg

मुजफ्फरपुर में शिक्षक नियोजन में बड़ी गड़बड़ी उजागर पंचायत सचिव पर कार्रवाई का आदेश


मुजफ्फरपुर जिले में शिक्षक नियोजन में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की गई है। अधिक अंक वाले अभ्यर्थियों को दरकिनार कर कम अंक वाले अभ्यर्थी के चयन का मामला सामने आया है। काउंसिलिग के दौरान की गई वीडियोग्राफी का फुटेज देखने के बाद यह मामला सामने आया है। डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी ने इसको लेकर जिला पंचायती राज पदाधिकारी को पत्र लिखकर कार्रवाई करने को कहा है। पत्र में बताया गया है कि गायघाट की केवटसा पंचायत नियोजन

इकाई में उच्च मेधा अंक वाले अभ्यर्थी राहुल कुमार (67.80) की जगह अभिषेक कुमार मेधा अंक (67.57) का चयन किया गया है। वहीं मोतीपुर की नरियार पंचायत नियोजन इकाई, मोतीपुर की ही पगहिया पंचायत नियोजन इकाई और पंचायत नियोजन इकाई जसौली में इस प्रकार की गड़बड़ी हुई है। इन चारों पंचायत के सचिवों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा गया है।

विशेष चरण की काउंसिलिग पूरी नहीं करने पर होगी कार्रवाई

मुजफ्फरपुर : जिले के प्रारंभिक स्कूलों में छठे क्रम में विशेष चरण की शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया पूरी नही करने पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की गई है। डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी ने इसको लेकर जिला पंचायत राज पदाधिकारी को पत्र भेजा है। कहा है कि औराई प्रखंड के ग्राम पंचायत राज रतवारा, भलूरा और बभनगामा में विशेष चरण की शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया पूरी नहीं की जा रही है। बताया गया है कि

औराई प्रखंड के अवधेश कुमार सिंह जो बभनगामा, भलूरा, रतवारा, बिदवारा व देवरिया पश्चिम के प्रभार में थे। उन्हें डीएम की ओर से निलंबित किया जा चुका है। अवधेश कुमार पर आरोप है कि उन्होंने शिक्षक नियोजन की अंतिम मेधा सूची एनआइसी पर अपलोड नहीं की। साथ ही नियोजन से संबंधित आवेदन पत्र, पंजी, मेधा सूची व किसी प्रकार का अभिलेख उपलब्ध नहीं कराया है। इस कारण डेढ़ वर्षों से नियोजन की प्रक्रिया रुकी हुई है।

0 comments