ei1WQ9V34771.jpg

कोरोना टेस्ट रिजल्ट पर उठे सवाल एंटीजन जांच को विधायक ने बताया फर्जी: सत्ताधारी दल है सप्लायर


एक तरफ स्वास्थ्य विभाग एंटीजन किट से ज्यादा से ज्यादा जांच कर रही है और इसकी रिपोर्ट को सही मानकर इलाज़ भी कर रही है वहीं खुद सरकार के लगभग विभाग एंटीजन किट रिपोर्ट स्वीकार नहीं करता एयरपोर्ट पर भी आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट मांगा जाता है अब इस मुद्दे पर मुजफ्फरपुर के मीनापुर से RJD विधायक राजीव कुमार उर्फ मुन्ना यादव ने एंटीजन किट से जांच और इसकी रिपोर्ट पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है।



सरकार और स्वास्थ्य विभाग को कटघरे में खड़ा किया है। उन्होंने एंटीजन जांच को पूरी तरह से फर्जी करार दिया है। कहा कि ये बीजेपी के लोग हैं, जो इस किट के सप्लायर हैं।

दो दिन पहले मुन्ना यादव ने संदेह होने पर एंटीजन और RTPCR जांच कराया था। एंटीजन रिपोर्ट दस मिनट में आ गई। जिसमें उन्हें पॉजिटिव बताया गया था। लेकिन, 72 घंटे बाद जब उनकी RTPCR जांच रिपोर्ट आई तो उसमें निगेटिव था। इसके बाद उन्होंने जमकर एंटीजन जांच पर सवाल उठाए।




भय व हार्ट अटैक से मर जाएंगे लोग MLA ने कहा कि एंटीजन जांच में लगभग सभी लोगों को कोरोना पॉजिटिव बताया जा रहा है। अब उन्हें अनुमान हो रहा है कि देश मे लोग कोरोना से कम और हार्ट अटैक से अधिक मर रहे हैं। कहा कि जो हार्ट का पेशेंट होगा। उसे अगर पॉजिटिव बताएंगे तो वह तो सुनते ही मर जाएगा। यही देश में हो रहा है। लेकिन, ये करवा कौन रहा है। ये सत्ताधारी दल के लोग हैं। जो कोरोना के नाम पर देश की जनता को लूट रहे हैं।

एंटीजन किट से बंद करें जांच कराना उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा की किसी भी कीमत पर एंटीजन किट से जांच नहीं कराएं। जांच कराना है तो RTPCR करा लें। एंटीजन जांच नहीं कराएं, क्योंकि इससे लाखों लोग मरे हैं केवल भय के कारण।

जब एंटीजन रिपोर्ट विश्वसनीय ही नही है तो सरकार करा क्यों रही है ये सब सरकार द्वारा सुनियोजित तरीक़े से जनता के गाढ़ी कमाई का बंदरबांट कर रही है ये सब घटिया राजनीति के तहत हो रहा है जनता अब सब समझ रही है बता दे की इससे पहले पुर्व सांसद जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने भी इस बार के कोरोना को सरकार प्राप्योजित बताया था।

0 comments