ei1WQ9V34771.jpg

पटना मे रातभर सड़को की धुलाई कर चकाचक किया जाता है वही मुजफ्फरपुर मे मेयर विधायक भाषण से काम चलाते है


पटना नगर निगम राजधानी के सूरतेहाल को बदलने के लिये कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है निगम के कर्मचारी बिना रूके कई शिफ्ट में लगातार काम करते है यहां तक की नाइट शिफ्ट में अत्याधुनिक मशीनों द्वारा तेज बौछारों से शहर के सड़को को चमाचम करने की जीतोड़ कोशिश करते देखे जाते है इसका असर शहरवासियों को भी महसूस होता है दुसरे शहरों के लोग जब पटना जाते है तो पटना नगर निगम के बेहतरीन काम को देखकर खुश होते है कर्मियों अधिकारी मेयर विधायक की उपलब्धि पर गर्व महसूस करते है भूरी भूरी प्रसंशा करते है।

वहीं बिहार के दुसरे सबसे ज्यादा टैक्स उगाही करने वाले और अविभाजित बिहार के सबसे पहले बने नगर निगम मुजफ्फरपुर की बात छिड़ते ही खुद शहरवासी ही नाक भौं सिकोरने लगते है कदम कदम पर बदहाली गंदगी कचरे बजबजाते हैजाजनक खुले नाले बड़े बड़े जानलेवा गढ्ढे हर महीने करोड़ों रुपया टैक्स देने वाले शहरवासियों को मुंह चिढाते दिखते है गंदगी बदबू कचरा भिनभिनाती मख्खियां हबकने को उतावले खुखांर मच्छर मुजफ्फरपुर की पहचान बन चुके है दशकों से बारहों महीने 365 दिन मलमुत्र से उपलाते घिनौने पिल्लूओ से ओतप्रोत बजबजाते नालो का पानी सड़कों पर निर्बाध रूप से बहता रहता है रिहायशी इलाकों में सड़कों गलियों के निचले ईलाको खाली प्लौटो में जलकुंभी जमी रहती है अस्पताल सालों भर परेशान दुखी लोगों से भरा होता है।

मुजफ्फरपुर के मेयर विधायक सिर्फ रिबन काटने उद्घाटन समारोह में फोटो खिचवाने लेटरहेड पर खुला खत जारी करने जनता पर सारी जिम्मेदारी थोपने और गाहे बगाहे लच्छेदार भाषण से मुजफ्फरपुर को जल्द से जल्द न्युयॉर्क बनाने का वादा करने के लिये दर्शन देते है हालात हर गुजरने दिन के साथ बद से बदतर ही होती जा रही है।

मेयर उपमेयर विधायक पार्षदों को शहर के बीचोबीच स्थित हर फ्लाईओवर ओवरब्रिजों के दोनों तरफ जमा गंदगी शर्मसार नहीं करता लाइटें महीनो तक बंद रहती है रोज उसी रास्ते गुजरने है पर मुंह नहीं खुलता आंखों पर पट्टी बंध जाती है शहर के लगभग हाईमास्ट बंद पड़े रहते है लेकिन मुजफ्फरपुर नगर निगम के स्वयं घोषित किंग मेकरो को अपने अपने राजनिति की दुकान चमकाने के जुगत में लगे रहने वाले नेताओं से मुजफ्फरपुर शहर त्रस्त है ।

रिपोर्ट स्वीटसिटी मुजफ्फरपुर न्यूज़

0 comments