ei1WQ9V34771.jpg
  • Sweet City Muzaffarpur

NEWS FLASH मुजफ्फरपुर कांटी थर्मल की पुरानी यूनिटों के बंद होने से दो हजार से ज्यादा कामगारों के...



मुजफ्फरपुर कांटी थर्मल की पुरानी यूनिटों के बंद होने से दो हजार से ज्यादा कामगारों के रोजी छिनने का डर


कांटी मुजफ्फरपुर थर्मल पावर प्लांट की 110-110 मेगावाट की दोनों पुरानी यूनिट को बंद करने के निर्णय से यहां के सैकड़ों कामगारों के प्रभावित होने की आशंका उत्पन्न हो गई है। हालांकि 195-195 मेगावाट की दोनों नयी यूनिटों से बिजली उत्पादन जारी रहेगा। 110 मेगावाट की पुरानी दोनों यूनिटों से बिजली उत्पादन काफी दिनों से बंद है। पुरानी दोनों यूनिटों से बिजली उत्पादन की लागत काफी ज्यादा होने व मेंटेनेन्स में काफी राशि खर्च होने के कारण इन्हें बंद करने का फैसला किया गया है।


पुरानी यूनिटों से प्रदूषण को लेकर भी चिंता जताई जाती रही है। दोनों पुरानी यूनिटों को हटाने के बाद वहां नई यूनिट लगायी जाने की संभावना है। इसपर काफी समय से प्रबंधन विचार-विमर्श कर रहा है। सबकुछ ठीक रहा तो पुरानी यूनिटों की जगह ज्यादा उत्पादन क्षमता वाली यूनिटों की स्थापना की जाएगी। इधर, पुरानी यूनिटों को बंद करने की खबर से प्लांट में काम करे रहे सैकड़ों कामगार चिंतित हो गए हैं। उनपर छंटनी की चिंता सताने लगी है। इंटक के संयुक्त सचिव अधिवक्ता मनीष कुमार ने बताया कि प्लांट ऑपरेशन में लगभग दो हजार कामगार सालों से कार्य कर रहे हैं। पुरानी यूनिटों को बंद करने के बाद कामगारों का समायोजन किया जाना चाहिए, ताकि ऐसे कामगारों की रोजी-रोटी नहीं छिने।



0 comments