ei1WQ9V34771.jpg

मुजफ्फरपुर में कहां चल रहा था कोचिंग की आड़ में शराब का कारोबार संचालन समेत 2 गिरफ्तार जानिये


मुजफ्फरपुर शहर स्थित आजाद कॉलोनी में कोचिंग सेंटर की आड़ में शराब का धंधा चल रहा था। मद्य निषेध कि टीम ने रविवार को इसका उद्भेदन किया है। कोचिंग से 153 बोतल शराब बरामद हुई। साथ ही संचालक समेत दो को मौके से गिरफ्तार भी किया गया। आरोपियों की पहचान संचालक डॉ.प्रवीण कुमार और मोहम्मद नवाब के रूप में हुई है। इसकी जानकारी मद्य निषेध के अधिकारी दीपक कुमार सिन्हा ने दी।उन्होंने बताया कि कोचिंग में सिर्फ शराब का धंधा ही नहीं बल्कि कुछ और भी संदिग्ध गतिविधियां होती है। जब वे और उनकी टीम वहां रेड में पहुंची तो कुछ लड़के-लड़की वहां से भागने लगे। पहले तो उनलोगों को लगा कि ये लोग छात्र हैं। लेकिन, जब गहनता से जांच की गई तो मामला कुछ और था। उन्होंने स्पष्ट तो नहीं कहा लेकिन उनकी बातों से देह व्यापार का धंधा भी होने की बात सामने आ रही है।

मुजफ्फरपुर मे एक्सपर्ट सिक्योरिटी उपलब्ध है संपर्क करें

पुलिस को दी गयी जानकारी

मधनिषेध टीम ने इसकी जानकारी काजी मोहम्मदपुर पुलिस को दे दी है। अब पुलिस अपने स्तर से भी देह व्यापार के मामले की जांच में जुट गई है। कोचिंग से कई आधार कार्ड समेत अन्य कागजात भी मिले हैं। इसकी जांच पुलिस कर रही है। वहीं आरोपियों से पूछताछ के बाद उत्पाद विभाग के हवाले कर दिया गया है। अभियोग दर्ज कर जेल भेजा जाएगा।


होम डिलीवरी से लेकर पिलाने की व्यवस्था


मद्य निषेध टीम ने आरोपियों से सख्ती से पूछताछ की। इसमें पता लगा कि कोचिंग संचालक और नवाब इस धंधे का मास्टरमाइंड है। नवाब शराब की खेप लाता है और संचालक ग्राहक तक सप्लाई करता है। होम डिलीवरी से साथ कोचिंग में शराब पिलाने की भी व्यवस्था थी। मधनिषेध के अधिकारियों का कहना है कि होली को लेकर शराब स्टॉक किया गया था। इस सिंडिकेट में और धंधेबाज़ व डिलीवरी बॉय शामिल हैं। उनके नाम पते का सत्यापन कर कार्रवाई की जा रही है।

0 comments