ei1WQ9V34771.jpg

पुलिस कस्टडी में मौत पर बवाल थाना फुंका हवलदार की मौत 10 से अधिक जवान घायल ईलाका छावनी मे तब्दील


बेतिया में पुलिस हिरासत में एक व्यक्ति की मौत के बाद जमकर उपद्रव हुआ। गुस्साई भीड़ ने थाना और पुलिस गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस कर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।

देखिये video


पुलिस कर्मियों ने जान बचाने के लिए थाना छोड़कर खेतों में दौड़ लगा दी थी। उपद्रव में एक पुलिसकर्मी राम जतन सिंह की भी मौत हुई है हवलदार के सिर को कुचल दिया गया है। हमले में 10 से अधिक जवान घायल हैं। चार घंटे बाद पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे पुलिस अफसरों ने भीड़ को हटाने की कोशिश की। भीड़ ने दोबारा पथराव कर दिया। पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए लाठीचार्ज और हवाई फायरिंग की। छह घंटे बाद भीड़ काबू हो सकी

दरअसल, शनिवार दोपहर पुलिस एक व्यक्ति को गश्ती के दौरान डीजे बजाने पर थाने ले आई थी। पुलिस कस्टडी में ही युवक की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने युवक को बट से पीटा, इसकी वजह से उसकी मौत हो गई।

बाद परिजनों के साथ हजारों की संख्या में ग्रामीणों ने बलथर थाना घेर लिया। थाने में तोड़फोड़ के बाद पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया। थाने की 3 गाड़ियों को ग्रामीणों ने आग के हवाले कर दिया। थाने में मौजूद पुलिस कर्मियों को पीटना शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियों ने जान बचाकर खेतों में दौड़ लगा दी। पीछे से उग्र भीड़ पत्थर फेंकती रही। वहीं, बलथर चौक पर एक पुलिस जीप में भी तोड़फोड़ कर दी।

होली पर बजा रहा था डीजे

परिजनों ने बताया कि शनिवार के दिन बलथर पुलिस गश्ती पर आई थी। यहां अनुरूद्ध यादव बलथर गांव में डीजे बजा रहे थे। पुलिस डीजे को जब्त कर अनुरूद्ध को गिरफ्तार कर थाने ले आई और जमकर थाने में पिटाई कर दी। पुलिस ने उसे बट से पीटा। पिटाई के बाद अनुरूद्ध की मौत हो गई।

जिस हवलदार राम जतन सिंह की मौत हुई है वे पुरुषोत्तमपुर थाना में तैनात थे, लेकिन वहां रहने की व्यवस्था नहीं थी। इसलिए बगल के बलथर थाना में ही रहते थे। जब ग्रामीणों ने थाने पर हमला किया। वह मौजूद थे। बताया जाता है कि उग्र भीड़ ने उन्हें बेरहमी से पीटा, जिससे उनकी मौत हो गई।

विधायक भी चोट‍िल

बवाल की सूचना पर सिकटा विधायक वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता लोगों को समझाने के लिए पहुंचे। बलथर गांव में पुलिस की कार्यशैली से नाराज लोगों को अभी विधायक समझा ही रहे थे। तब तक लाठी डंडा लिए

सैकड़ों पुलिस के जवान पहुंच गए और भीड़ को शांत करा रहे विधायक पर भी लाठी चटका दी।विधायक का एक प्राइवेट क्लीनिक में प्राथमिक उपचार किया गया है।

ग्रामीणों का कहना है कि भीड़ को रोकने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग की। तब लोगों का गुस्सा भड़क गया और थाने में आग लगा दी। हालांकि हवाई फायरिंग किए जाने की अधिकारिक पुष्टि नहीं हो रही है।


0 comments