ei1WQ9V34771.jpg

NEWS FLASH साहेबगंज विधायक राजू सिंह की बल्ले बल्ले मुजफ्फरपुर को मिलेगा एक और मंत्री


मुजफ्फरपुर, एम नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल से वीआइपी सुप्रीमो मुकेश सहनी को बर्खास्त किए जाने के बाद बीजेपी और वीआइपी के बीच जारी विवाद का पटाक्षेप हो गया लगता है। हालांकि इसके आफ्टर इफेक्ट अभी खत्म नहीं हुए हैं। अभी बैठकों और संभावनाओं को तलाशने का क्रम जारी है। मुलाकातें हो रही हैं। समीकरण बनाए जा रहे हैं। रणनीतियां तैयार की जा रही हैं। इन्हीं चीजों के बीच मुजफ्फरपुर के लिए एक अच्छी खबर आ रही है। यदि राजनीतिक गलियारों में जारी चर्चाओं के अनुरूप ही चीजें होती रहीं तो इस जिले को एक और मंत्री का पद मिल सकता है। पिछली बार मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान तमाम चर्चाओं के बावजूद इस जिले को निराशा हाथ लगी थी। राजनीति के जानकारों का कहना है कि इस समय जो स्थिति बन रही है उसमें इस बात की संभावना बहुत अधिक है। बावजूद सब कह रहे, यह राजनीति है अौर कब क्या हो जाए, कहा नहीं जा सकता।

वीआइपी के तीनों विधायक राजू सिंह, मिश्रीलाल यादव व स्वर्णा सिंह के भाजपा में शामिल होने के बाद मंगलवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से तीनों विधायकों ने मुलाकात की है। राजू सिंह ने अपने फेसबुक पेज पर इसकी तस्वीर शेयर भी की है। इसके बाद से चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। वैसे मुकेश सहनी को हटाए जाने के बाद से ही यह माना जा रहा था कि सीएम नीतीश कुमार कैबिनेट में फेरबदल होगा। विशेषकर भाजपा कोटे से मंत्रियों के पदों में। जेपी नड्डा के साथ हुई बैठक में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल भी नजर आ रहे हैं।

यूं तो कई तरह के समीकरण बताए जा रहे हैं, लेकिन जो चर्चा सबसे अधिक उभर कर सामने आ रही है उसके अनुसार अभी वीआइपी से भाजपा में आए तीन में से दो विधायकों को मंत्री का पद दिया जा सकता है। इसमें मुजफ्फरपुर जिला अंतर्गत साहेबगंज सीट से विधायक राजू सिंह के बारे में कहा जा रहा है कि उन्हें मंत्री बनाया जा सकता है। जिस किसी भी समीकरण पर चर्चा चल रही है उसमें राजू सिंह को आगे बताया जा रहा है। इस तरह से देखा जाए तो मुजफ्फरपुर को फायदा होता दिख रहा है। औराई से विधायक रामसूरत राय पहले से ही मंत्री हैं। यदि राजू सिंह मंत्री बन जाते हैं तो मुजफ्फरपुर से दो मंत्री हो जाएंगे। वैसे सभी विधायकों ने जेपी नड्डा के साथ इस मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात बताया है। मुजफ्फरपुर से सांसद व भाजपा बिहार प्रदेश उपाध्यक्ष अजय निषाद ने भी पूर्व में इस बात के संकेत दिए थे कि वीआइपी से भाजपा में आए तीन में दो विधायकों को मंत्री पद दिया जा सकता है।

0 comments