ei1WQ9V34771.jpg

नहाने का गलत तरीका है खतरनाक, हो सकता है ब्रेन स्ट्रोक या मार सकता है लकवा कैसे नहाएं समझिये...


स्वीटसिटी मुजफ्फरपुर हेल्थ न्यूज अगर आप सोचते हैं कि नहाने का सही या गलत तरीका क्या हो सकता है... जिसे जैसे मन करे वैसे नहा सकता है। अगर आपकी सोच भी कुछ ऐसी ही है तो आप गलत हैं। खाने-पीने और सोने की ही तरह नहाने का भी एक सही तरीका है जिसे अगर फॉलो न किया जाए तो नहाते वक्त लकवा मारने या फिर ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बना रहता है। इस तरह की जानलेवा चीजों से बचने के लिए जानें, क्या है नहाने का सही तरीका..

नहाने का गलत तरीका

बहुत से लोगों को आदत होती है कि वे बाथरूम में पहुंचते ही सीधे शावर के नीचे खड़े हो जाते हैं या फिर बाल्टी और मग से सीधे सिर पर पानी उड़ेलने लग जाते हैं। यह नहाने का पूरी तरह से गलत तरीका है और इससे ही स्ट्रोक समेत कई दूसरे खतरे सामने आ सकते हैं।

शरीर में खून का प्रवाह ऊपर से नीचे

दरअसल, हमारे शरीर में खून का प्रवाह ऊपर से नीचे की तरफ होता है। ऐसे में अगर आप सीधे सिर पर ठंडा पानी डालकर नहाएंगे तो सिर में मौजूद खून की नलिकाएं सिकुड़ने लगेंगी या खून के थक्के जमने लगेंगे। इसलिए नहाते वक्त सिर से पानी डालने की शुरुआत न करे।

नस फटने का खतरा

सिर पर सीधे पानी डालने से हमारा सिर ठंडा होने लगता है, जिससे हार्ट को सिर की तरफ ज्यादा तेजी से खून भेजना पड़ता है, जिससे या तो हार्ट अटैक या दिमाग की नस फटने की दिक्कत हो सकती है।

नहाने की शुरुआत पैरों से करें

ऐसे में नहाने की शुरुआत पैरों से करें। पैर के पंजो पर पानी डालने से शुरुआत करें। इसके बाद जांघ, पेट, हाथ, कंधे से होते हुए सबसे आखिर में सिर पर पानी डालें।

बाद में शावर से नहाएं

इतना सब करने के बाद आप चाहें तो शावर के नीचे खड़े होकर या बाल्टी से पानी सिर पर उड़ेलकर नहा सकते हैं। इस प्रक्रिया में केवल 1 मिनट का वक्त लगता है इसलिये कभी लापरवाही ना करें।

यह है फिजिशियन की सलाह

आजकल लोग बाथरूम में जाकर शावर खोल कर उसके नीचे सीधे खड़े हो जाते हैं, यह तरीका गलत है। नहाते समय सबसे पहले पैरों को भिगोना चाहिए। इसके बाद एक-एक अंग को भिगोते हुए सिर को सबसे अंत में भिगोएं। ठंड में यह सावधानी विशेष तौर पर बरतनी चाहिए। नहाने का सही तरीका पता नहीं होने से ठंड में स्नान करते समय ही ब्रेन हेमरेज व लकवा की आशंका ज्यादा रहती है। इस तरह के केस अक्सर पीएमसीएच में आते हैं।

डॉ. राजीव कुमार सिंह, फिजियोलॉजी विभागाध्यक्ष पीएमसीएच पटना

इस महत्वपूर्ण जानकारी को शेयर जरूर करें

Muzaffarpur Sweet City ; Bihar News :; Muzaffarpur ; स्वीटसिटी मुजफ्फरपुर ; मुजफ्फरपुर ; मुजफ्फरपुर स्वीट सीटी

0 comments